श्रीसाबर-शक्ति-पाठ

श्रीसाबर-शक्ति-पाठ
श्री ‘साबर-शक्ति-पाठ’ के रचियता ‘अनन्त-श्रीविभूषित-श्रीदिव्येश्वर योगिराज’ श्री शक्तिदत्त शिवेन्द्राचार्य नामक कोई महात्मा रहे है। उनके उक्त पाठ की प्रत्येक पंक्ति रहस्य-मयी है। पूर्ण श्रद्धा-सहित पाठ करने वाले को सफलता निश्चित रुप से मिलती है, ऐसी मान्यता है।
किसी कामना से इस पाठ का प्रयोग करने से पहले तीन रात्रियों में लगातार इस पाठ की १११ आवृत्तियाँ ‘अखण्ड-दीप-ज्योति’ के समक्ष बैठकर कर लेनी चाहिए। तदनन्तर निम्न प्रयोग-विधि के अनुसार निर्दिष्ट संख्या में निर्दिष्ट काल में अभीष्ट कामना की सिद्धि मिल सकेगी।
प्रयोग-विधिः-
१॰ लक्ष्मी-प्राप्ति हेतु
नैऋत्य-मुख बैठकर दो पाठ नित्य करें।
२॰ सन्तान-सुख-प्राप्ति हेतु
पश्चिम-मुख बैठकर पाँच पाठ तीन मास तक करें।
३॰ शत्रु-बाधा-निवारण हेतु
उत्तर-मुख बैठकर तीन दिन सांय-काल ग्यारह पाठ करें।
४॰ विद्या-प्राप्ति एवं परीक्षा उत्तीर्ण करने हेतु
पूर्व-मुख बैठकर तीन मास तक ३ पाठ करें।
५॰ घोर आपत्ति और राज-दण्ड-भय को दूर करने के लिए
मध्य-रात्रि में नौ दिनों तक २१ पाठ करें।
६॰ असाध्य रोग को दूर करने के लिए
सोमवार को एक पाठ, मंगलवार को ३, शुक्रवार को २ तथा शनिवार को ९ पाठ करें।
७॰ नौकरी में उन्नति और व्यापार में लाभ पाने के लिए
एक पाठ सुबह तथा दो पाठ रात्रि में एक मास तक करें।
८॰ देवता के साक्षात्कार के लिए
चतुर्दशी के दिन रात्रि में सुगन्धित धूप एवं अखण्ड दीप के सहित १०० पाठ करें।
९॰ स्वप्न में प्रश्नोत्तर, भविष्य जानने के लिए
रात्रि में उत्तर-मुख बैठकर ९ पाठ करने से उसी रात्रि में स्वप्न में उत्तर मिलेगा।
१०॰ विपरीत ग्रह-दशा और दैवी-विघ्न की निवृत्ति हेतु
नित्य एक पाठ सदा श्रद्धा से करें।

पूर्व-पीठिका
।। विनियोग ।।
श्रीसाबर-शक्ति-पाठ का, भुजंग-प्रयात है छन्द ।
भारद्वाज शक्ति ऋषि, श्रीमहा-काली काल प्रचण्ड ।।
ॐ क्रीं काली शरण-बीज, है वायु-तत्त्व प्रधान ।
कालि प्रत्यक्ष भोग-मोक्षदा, निश-दिन धरे जो ध्यान ।।
।। ध्यान ।।
मेघ-वर्ण शशि मुकुट में, त्रिनयन पीताम्बर-धारी ।
मुक्त-केशी मद-उन्मत्त सितांगी, शत-दल-कमल-विहारी ।।
गंगाधर ले सर्प हाथ में, सिद्धि हेतु श्री-सन्मुख नाचै ।
निरख ताण्डव छवि हँसत, कालिका ‘वरं ब्रूहि’ उवाचै ।।

इस “शाबर-शक्ति-पाठ” को पुरा पढ़ने के लिये कृपया “वैदिकजगत॰कॉम” का अनुसरण करें।

About these ads

17 Comments

  1. Arvind
    Posted मार्च 20, 2010 at 12:28 पूर्वाह्न | Permalink | Reply

    Dear,
    Apne jo shabar shakti path diya hai usme, Chinnmamasta maa ka path missing hai, iska punha avlokan kare, adha path na dein.
    Arvind Sharma

  2. Posted अप्रैल 28, 2010 at 11:25 पूर्वाह्न | Permalink | Reply

    pandit ji mujhe shri shabar shakti path ka mantra bataye

  3. kamal
    Posted जुलाई 13, 2010 at 10:37 पूर्वाह्न | Permalink | Reply

    pundit ji, Apke blog ke liye dhnyawad. mere do prashn hai: 1) sadhak/sadhya me kya antar hota hai -pooja karne wala ya jiske upar yantra(vashikaran/vidweshan) lagaya jata hai?
    2) mere employees(naukar) bahut jaldi kaam chorkar chale jate hain- jyada payment karne par bhi nahi tikte, choriya bhi hui hai. wafadar tikau paricharak ke liye koi asan yantra -totka batane ki krupa kare.Bahut pareshan hoon. kaam bar bar ruk jata hai
    dhanyawad

    • pranshu
      Posted जनवरी 13, 2011 at 4:30 अपराह्न | Permalink | Reply

      the diety you worship is sadhya and the one who worships his/her diety is sadhak

  4. vanaja
    Posted जुलाई 22, 2010 at 6:08 अपराह्न | Permalink | Reply

    Can u send these mantras in english
    Because it is very difficult for me to read
    Regards
    Vanaja

  5. Aniruddha
    Posted सितम्बर 10, 2010 at 4:57 अपराह्न | Permalink | Reply

    Dear Swamiji,
    I have some hand written matter and audio spoken in Shabari Language by
    Can you translate it for the sake of literary work of shree Maharaj

    Thanking you,
    Waiting for your earliest positive reply…

    • shirish
      Posted नवम्बर 21, 2010 at 1:39 अपराह्न | Permalink | Reply

      Please post that mantras and upload audio mantras we can do something

  6. SATYAJIT BOSE
    Posted नवम्बर 10, 2010 at 1:38 पूर्वाह्न | Permalink | Reply

    JOY GURU MAHA GURUDEBAYA NAMOO:,
    MAY EK BAHUTH CHOTE SADHARAN MAA KI SEBAK HOO.
    MERA GHAR KOLKATA ME HAY.GHAR ME EK KALI MA KI MURTI VI HAY.ROJ PUJA HOTA HAY.AP EA SABAR MANTRA KA WEB SITE BAHUTH ACHA LAGA.AUR MAA KI CHARONOME PRATHONA KARTA HOO KI AP KA EA KAM SAB KO SANTI,SHUK,SIDDHI DE.
    AP KO MERA PRANAM
    SATYAJIT BOSE

  7. Rajeev
    Posted नवम्बर 12, 2010 at 1:38 अपराह्न | Permalink | Reply

    Sir,
    aapne to shabar mantra shakti paath diya hai. who itna bada hai ki ek raat me uska 111 baar jaap nahi ho sakta. Yadi mai kewal Maa Kaali ka mantra japna chahu to kay karna hoga?
    Please guide me.
    Thank you.
    Rajeev
    rajeev_power@indiatimes.com

  8. mannu sharma
    Posted नवम्बर 23, 2010 at 12:18 अपराह्न | Permalink | Reply

    thanks

  9. purshtom
    Posted नवम्बर 24, 2010 at 4:36 अपराह्न | Permalink | Reply

    path or mantra ma kya fark ha kis ka jaap karna hoga

  10. Raj
    Posted दिसम्बर 14, 2010 at 1:13 अपराह्न | Permalink | Reply

    GURUJEE PRANAM

    MUJE SABAR SHAKTI PATH HINDIME BATANEKI KRUPA KARE
    DHANYAVAD
    Raj

  11. Posted दिसम्बर 19, 2010 at 11:38 पूर्वाह्न | Permalink | Reply

    Dear Sir,

    I read Shabar Shakti Path related blog but I am unable to get the full shabar shakti path, kindly requested to you if possible please send me any link where I get this path or send the soft copy on mail.

    Thanks,

    Sameer

  12. vikram
    Posted फ़रवरी 3, 2011 at 4:31 अपराह्न | Permalink | Reply

    इस “शाबर-शक्ति-पाठ” को पुरा पढ़ने के लिये कृपया “वैदिकजगत॰कॉम” का अनुसरण करें। but it is not showing the full paath.. pls. can you send me on my above mail i/d??

    thank you,

    vikram.

  13. Posted अगस्त 27, 2011 at 3:07 अपराह्न | Permalink | Reply

    sabar saktepath krepa krke mel kre dhnyawad

  14. Bhisam Rai
    Posted फ़रवरी 28, 2012 at 1:30 अपराह्न | Permalink | Reply

    नमस्कार गुरुजी बहुत अछा लगा ये आप्का तन्रा और् मन्त्र पढने के लिए जो अवसर दिया आफ्ने हमलोग को
    गुरु जी मै वि एक सफल और् सत्यवान तान्त्रिक बन्ना चाहत हु लेकिन मुजे संस्कृत समज्जमे नही आता हे
    आधा बात समज्ता हु तो आधा नही समस्या हे गुरुजी क्याकिया जाये !!
    “धन्यवाद”

  15. Posted अगस्त 21, 2013 at 7:43 अपराह्न | Permalink | Reply

    please tell me what is the easiest way to get siddhi in sabar mantra without guru.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 619 other followers

%d bloggers like this: