दूकान की बिक्री

दूकान की बिक्री अधिक हो-
१॰ “श्री शुक्ले महा-शुक्ले कमल-दल निवासे श्री महालक्ष्मी नमो नमः। लक्ष्मी माई, सत्त की सवाई। आओ, चेतो, करो भलाई। ना करो, तो सात समुद्रों की दुहाई। ऋद्धि-सिद्धि खावोगी, तो नौ नाथ चौरासी सिद्धों की दुहाई।”
विधि- घर से नहा-धोकर दुकान पर जाकर अगर-बत्ती जलाकर उसी से लक्ष्मी जी के चित्र की आरती करके, गद्दी पर बैठकर, १ माला उक्त मन्त्र की जपकर दुकान का लेन-देन प्रारम्भ करें। आशातीत लाभ होगा।
२॰ “भँवरवीर, तू चेला मेरा। खोल दुकान कहा कर मेरा।
उठे जो डण्डी बिके जो माल, भँवरवीर सोखे नहिं जाए।।”
विधि- १॰ किसीशुभ रविवार से उक्त मन्त्र की १० माला प्रतिदिन के नियम से दस दिनों में १०० माला जप कर लें। केवल रविवार के ही दिन इस मन्त्र का प्रयोग किया जाता है। प्रातः स्नान करके दुकान पर जाएँ। एक हाथ में थोड़े-से काले उड़द ले लें। फिर ११ बार मन्त्र पढ़कर, उन पर फूँक मारकर दुकान में चारों ओर बिखेर दें। सोमवार को प्रातः उन उड़दों को समेट कर किसी चौराहे पर, बिना किसी के टोके, डाल आएँ। इस प्रकार चार रविवार तक लगातार, बिना नागा किए, यह प्रयोग करें।
२॰ इसके साथ यन्त्र का भी निर्माण किया जाता है। इसे लाल स्याही अथवा लाल चन्दन से लिखना है। बीच में सम्बन्धित व्यक्ति का नाम लिखें। तिल्ली के तेल में बत्ती बनाकर दीपक जलाए। १०८ बार मन्त्र जपने तक यह दीपक जलता रहे। रविवार के दिन काले उड़द के दानों पर सिन्दूर लगाकर उक्त मन्त्र से अभिमन्त्रित करे। फिर उन्हें दूकान में बिखेर दें।

16 Comments

  1. Posted जनवरी 21, 2009 at 12:44 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    दूकान की बिक्री अधिक हो व्यक्ति का नाम लिखें।

  2. anil kumar gupta
    Posted फ़रवरी 18, 2009 at 12:17 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    Pandit ji,
    main yeh janana chahata hoon ki kisi bandhey hue kaam ka kaise pata lagaya jaye. Please reply soon.

  3. sunil Balasheb mali
    Posted मार्च 14, 2009 at 8:03 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    01]how to incrises our shop sell
    02] how to callect cridie
    03] how to paid banl lone

  4. sunil Balasheb mali
    Posted मार्च 14, 2009 at 8:09 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    meri dukan ki sale kam hai
    udhari vasul nahi ho pati
    bank ka karja kase depayege

    • Posted अक्टूबर 27, 2010 at 10:45 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

      jai mata di
      sir
      ma kam ko badan chata ho
      my name is inderjeet
      meri dukan ki sale kam hai
      udhrin vasul nahi ho pati
      bank ka karja kase depayege

  5. satish
    Posted मई 14, 2009 at 4:57 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    meri dukan ki sale kam hai
    udhari vasul nahi ho pati
    bank ka karja kase depayege

  6. Posted जून 1, 2009 at 5:54 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    ko bhi kam nhi banta he pasaa jo bhee lata ha data nhi

  7. Shailesh A Pandya
    Posted मार्च 16, 2010 at 12:13 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    JAI SHRI RAM
    NAME: SHAILSH A PANDYA
    DATE OF BIRTH : 05/07/1977
    TIME: 6.10 PM
    PALCE : MUMBAI

    HAVE ANY RAJ YOG OR ANY SUCCES IN POLITICAL CAREER

    PLS TELL ME

  8. arun
    Posted जुलाई 3, 2010 at 7:00 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    sir koi chota uppay bataye….

  9. Posted अगस्त 19, 2010 at 4:29 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    hum apne professional work ko kaise badha sakte he
    mantra likhe (nandu.pareek909@gmail.com)

    plz……….
    ………

  10. LAXMAN JANGID(TANTRA PREMI)
    Posted सितम्बर 20, 2010 at 10:10 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    namo narayan, sir shabar mantro me kisi bhi devi-dev ki duhai / kasam se kam karvaya jata he . yah anusit he.

  11. Posted अक्टूबर 27, 2010 at 10:39 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    jai mata di

    sir mera kama bada manda chala raha hi ma apan kama ko badan chata hu lakian kama ma adachan ah rahi hi plase kai upaya bathai

  12. Prashant
    Posted सितम्बर 28, 2011 at 10:47 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    JAY SHREE RAM
    Panditji,
    mera cyber cafe hain kya aap muzhe aisa koi mantra denge jisase mera collection badhga. customer ki badhotri hogi main pahele bhi ek bar dukan band kar chuka hun. ab maine dusri jagaha pe shuru kiya hain plz. save me.

  13. Anshuman kumar
    Posted अक्टूबर 19, 2011 at 10:43 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    mera coaching centre hai hamesha paisho ka problem rehta hai dhick dhung se buisness nahi chal pa raha hai please ishe chal dijia

  14. Sanjeev kumar
    Posted अगस्त 5, 2012 at 9:56 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    Berojgar hoom dhoke ka shikar hoon

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: