ज्योतिष और शाबर

ज्योतिष और शाबर
साधना-काल में जन्म-लग्न-चक्र के अनुसार ग्रहों की अनुकूलता जानना आवश्यक है। साधना भी एक प्रकार का कर्म है, अतः ‘दशम भाव’ उसकी सफलता या असफलता का सूचक है। साधना की प्रकृत्ति तथा सफलता हेतु पँचम, नवम तथा दशम भाव का अवलोकन उचित रहेगा। 
१॰ नवम स्थान में शनि हो तो साधक शाबर मन्त्र में अरुचि रखता है या वह शाबर-साधना सतत नहीं करेगा। यदि वह ऐसा करेगा तो अन्त में उसको वैराग्य हो जाएगा।
२॰ नवम स्थान में बुध होने से जातक को शाबर-मन्त्र की सिद्धि में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
३॰ पँचम स्थान पर यदि मंगल की दृष्टि हो, तो जातक कुल-देवता, देवी का उपासक होता है।
४॰ पँचम स्थान पर यदि गुरु की दृष्टि हो, तो साधक को शाबर-साधना में विशेष सफलता मिलती है।
५॰ पँचम स्थान पर सूर्य की दृष्टि हो, तो साधक सूर्य या विष्णु की उपासना में सफल होता है।
६॰ यदि राहु की दृष्टि होती है, तो वह “भैरव” उपासक होता है। इस प्रकार के साधक को यदि पथ-प्रदर्शन नहीं मिलता, तो वह निम्न स्तर के देवी-देवताओं की उपासना करने लगता है।

9 Comments

  1. SUSHIL SHARMA
    Posted अप्रैल 25, 2009 at 3:34 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    Bahut accha

  2. Posted नवम्बर 27, 2009 at 2:04 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    can u say that, i shall join the Govt. job. or private job. How is my life?
    This time i am face some problem. which types mantra can i use? than solve my problem.

    Name :- Amit Kumar
    DOB:- 13-Sep-1986
    TOB:- 23:25
    Day of born:-Saturday.
    Place of born:- Begusarai(Bihar)

    Plz see my problem & confirm me as soon as possible.

    Warm Regards
    Amit Kumar
    cont. 9709671007/9693404074

    • GOUR CHANDRA PAUL
      Posted मई 25, 2010 at 5:30 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

      Dear Amit,
      I think your problem started after Aug 2008 and it will minimize April 04,2011. In this time worship goddess Durga, atleast Durga darshan on every Wednesday. There is Bhairav mandir near every devi mandir, donot forget it. if u donot find one darshan Lord Shiva.
      Second donate one chapati of your part to black dog every Saturday, as your memory becomes poor due to dragon’s tail(ketu).
      Try to get job in finance Sector(I reccomend), or education.
      You will get married after 2013
      wear a green stone if u cannot afford panna.
      Thanks for reading my comment.

  3. sanju
    Posted फ़रवरी 25, 2010 at 3:43 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    i want i can do

  4. vikas patel
    Posted अप्रैल 7, 2010 at 11:26 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    जन्म-लग्न-चक्र के अनुसार ग्रहों की अनुकूलता kase pata kare

  5. Rabi
    Posted मई 13, 2010 at 9:22 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    Dear my friends, if some one knows the Mantra for the 9 planets(nawagraha) please let me know.

  6. Posted जनवरी 26, 2011 at 1:29 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    name Narendar dhayal
    Dob 25/11/1983
    time3.15 pm
    plce sikar Village sanvlwodha Rajasthan

    Please i request u tell me my life

    watting your answer

  7. Posted फ़रवरी 23, 2012 at 8:40 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    पँचम स्थान पर यदि राहु की दृष्टि होती है, तो वह “भैरव” उपासक होता है–this is true
    but before bhairav upasana ,i’m really attracted by ”saraswati devi” upasana, and worship her by true soul, in my kundali meena lagna rahu dev in 1’st house which upasana good for me?.

  8. Posted अक्टूबर 22, 2012 at 12:15 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    my name risabh vats
    dob 30 nov 1988
    time 11:05am
    place dadri u.p.
    eail.id: risabhvats@gmail.com

    kya mujhe govt job milegi .mujhe ias m saphalta milegi plz mere question ka reply jaldi dena
    thankyou

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: