दुर्गा शाबर मन्त्र

दुर्गा शाबर मन्त्र

“ॐ ह्रीं श्रीं चामुण्डा सिंह वाहिनीं बीस हस्ती भगवती, रत्न मण्डित सोनन की माल। उत्तर पथ में आन बैठी, हाथ सिद्ध वाचा ऋद्धि-सिद्धि। धन-धान्य देहि देहि, कुरू कुरू स्वाहा।”

उक्त मन्त्र का सवा लाख जप कर सिद्ध कर लें। फिर आवश्यकतानुसार श्रद्धा से एक माला जप करने से सभी कार्य सिद्ध होते हैं। लक्ष्मी प्राप्त होती है। नौकरी में उन्नति और व्यवसाय में वृद्धि होती है।

5 Comments

  1. Posted दिसम्बर 22, 2009 at 3:55 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    dear sir please i want to read all shabar mantra so sent me some books by post thanks
    anil sharma 334 sch no 78 slice e sect 3 ab road near sai temple post office mob 91-8303065620

  2. mamta
    Posted अगस्त 12, 2011 at 10:32 पूर्वाह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    mere huspand mejhse divorce chate hi .but me nahi chati hu. plz btaye me kya kru?

    • saab
      Posted मई 9, 2012 at 5:24 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

      मुझे गुस्सा बहुत आता है किर्पिया गुस्से पर कोबू पाने का कोई मंतर बतइए

  3. Sunny
    Posted फ़रवरी 27, 2012 at 11:49 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    Gud shabr mantras

  4. Sunny
    Posted फ़रवरी 27, 2012 at 11:52 अपराह्न | Permalink | प्रतिक्रिया

    peacefully and seedhpurn shabr mantras

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: